Adv

दिल्लीः हिंसा के एक दिन बाद सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गयी, प्रमुख मार्ग बंद

मंगलवार को हुई हिंसा मामले में अबतक 22 एफआईआर दर्ज


नई दिल्ली, 27 जनवरी (हि.स.)। राजधानी दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान उपद्रवियों के बवाल और हिंसा के चलते दिल्ली की सुरक्षा को चाक-चौबंद किया गया है। पुलिस ने कई स्थानों पर आवाजाही पर रोक लगाई है अथवा उसे सीमित किया है। कल हुई हिंसा और पथराव के मामले में पुलिस ने अबतक 22 प्राथमिकी दर्ज की है।


दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने परिवहन संबंधी अलर्ट जारी कर लोगों को उन मार्गों से बचने की सलाह दी है जिन्हें एहतियातन बंद किया गया है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि गाजीपुर फूल व फल मंडी, एनएच-9 और एनएच-24 को बंद कर दिया गया है। साथ ही सलाह दी गयी है कि जिसे दिल्ली से गाजियाबाद जाना है, वह कड़कड़ी मोड़, शाहदरा व डीएनडी का प्रयोग करे। इसके अलावा मिंटो रोड से कनॉट प्लेस जाने वाले मार्ग को भी बंद कर दिया गया है।


दिल्ली मेट्रो का कहना है कि लाल किला मेट्रो स्टेशन से निकासी की अनुमति है लेकिन यहां से प्रवेश को बंद कर दिया गया है। इसके अलावा दिल्ली की सभी लाइनों पर सामान्य सेवा बहाल कर दी गई है।


मंगलवार को लाल किले पर हुए हंगामे के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गयी है और बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। यही स्थिति सिंघु बॉर्डर की भी है, जहां किसान कृषि कानूनों के खिलाफ लंबे समय से धरना दे रहे हैं।


दिल्ली के आईटीओ में किसान ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा पर आईपी पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है और अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इसमें ट्रैक्टर रैली के पलटने के चलते हादसे में मारे गए किसान का भी नाम है।

Dr. Uri Capsules

Todays Headlines