Adv

कोरोना से खराब को चुके फेफड़ों को सही करने के लिए नहीं मिल रहे रेमडेसिविर इंजेक्शन

22/04/2021 -दो - दो मंत्री होने के बाद भी कमजोंर है स्वास्थ्य सेवाएं मंदसौर, 22 अप्रैल (हिस)। जिले में कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार की रात को आई रिपोर्ट्स में भी 121 कोरोना के नये मरीज मिले हैं। सबसे ज्यादा चिंता का विषय यह है कि जिला चिकित्सालय में भर्ती कोविड के मरीजों में से 80 प्रतिशत मरीज ऑक्सीजन पर है जिन्हें निरंतर ऑक्सीजन की आवश्यकता है वहीं 20 से 30 प्रतिशत मरीज ऐसे हैं जिन्हें रेमडेसिविर इंजेक्शन की आवश्यकता है। मंदसौर का दुर्भाग्य है कि दो - दो केबीनेट मंत्री होने के बावजूद भी मंदसोर को आवश्यक मात्रा के आधे इंजेक्शन भी प्राप्त नहीं हो रहे है। वैसे तो अभी दो दिनो से मंदसौर को एक भी इंजेक्शन प्राप्त नहीं हुआ है इससे पहले भी जो इंजेक्शन प्राप्त हुई है वे भी नाकाफी थे। इंजेक्शन की आवश्यकता वाले मरीज ज्यादा और इंजेक्शन बहुत कम मात्रा में आ रहे है। अस्पताल सूत्रों के अनुसार जिन मरीजों को दूसरा और तीसरा डोज लगना है उनके सहित लगभग 100 कोरोना मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन लगना है लेकिन मंदसौर में जहां बुधवार की शाम तक रेमडेसिविर इंजेक्शन आने वाले थे, वे गुरुवार तक भी मंदसौर नहीं पहुंच पाये हैं। अब ऐसी स्थिति में अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्वास्थ्य सेवाएं किस प्रकार चरमराई हुई हैं। मंदसौर के जिला चिकित्सालय में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ के एल राठौर, सिविल सर्जन डाॅ डीके शर्मा, डाॅ बोराना, डाॅ शुभम सिलावट, डाॅ हरगौड़ सहित अन्य डाॅक्टर और नर्सिग स्टाॅफ मरीजों को अच्छे से अच्छी सुविधाएं देने में लगा है लेकिन फिर भी वे चाहते भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं क्योंकि जिन मरीजो की रेमडेसिवीर इंजेक्शन लगना है उनके पास वह उपलब्ध ही नहीं है। परेशान हो रहे मरीजों के परिजन, सब बेबस- जिन मरीजों को रेमडेसिवीर इंजेक्शन लगना है उन मरीजों के परिजन बहुत परेशान हो रहे है और अपने आप को बेबस समझ रहे है। क्योंकि वे चाहते हुए भी अपने परिजनों की मदद नहीं कर पा रहे है। पहुच वाले व्यक्ति सांसद, विधायक तक को फोन लगा रहे है लेकिन वे भी सिर्फ आश्वस्त ही कर पा रहे है। एक मंत्री खरगोन में व्यस्त तो दूसरे खुद कोरोना से पीड़ित- मंदसोर जिले से मप्र केबीनेट में दो - दो मंत्री है। एक मल्हारगढ़ विधानसभा से जगदीश देवड़ा और दूसरे सुवासरा विधानसभा से हरदीपसिह डंग लेकिन जहां श्री डंग अपने प्रभार वाले क्षेत्र में खरगोन में व्यस्त है तो वहीं मंत्री श्री देवड़ा खुद कोरोना से पीड़ित होकर स्वास्थ्य लाभ ले रहे है हालांकि वे सारी स्थिति पर नजर बनाए हुए है लेकिन रेमडेसिवीर इंजेक्शन को लेकर स्थिति नहीं सुधर रही है। अधिकारियों का कहना है- मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डाॅ के एल राठौर मंदसौर ने आज हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में बताया कि जिला चिकित्सालय सहित निजी अस्पतालो में उपचाररत कुछ कोरोना के मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन की आवश्यकता है हम पूरी स्थिति पर नजर बनाये हुए हैं लेकिन बुधवार को आने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन गुरुवार को भी नहीं आये। औषधि इंस्पेक्टर जय प्रकाश, मंदसौर ने आज हिन्दुस्थान समाचार से चर्चा करते हुए बताया कि हमारे ऐसे लगभग 100 ऐसे मरीजों की सूची है जिन्हें पहला, दूसरा और तीसरा डोज लगना है। मैं खुद लगातार इंदौर के सम्पर्क में हंू लेकिन बुधवार की शाम को आने वाली रेमडेसिवीर इंजेक्शन की खेप गुरूवार को भी नही आ पाई।
Designer Wear

Todays Headlines